Logo

समाचार पत्रों में वायरस की अफवाह फैलाई तो जाना पड़ेगा जेल : डीएम

by / 0 Comments / 14 View / March 25, 2020

25 मार्च 2020 – वाराणसी ,एजेंसी: समाचार पत्र वितरण में बाधा पहुंचाने वालों के खिलाफ  जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने  सख्ती से निपटने का निर्देश दिया है और बताया कि समाचार पत्र वितरण को अत्यंत आवश्यक सेवा घोषित किया गया है। कोई भी समाचार पत्र में वायरस होने की अफवाह नहीं फैलाएगा, यदि इसकी कहीं से सूचना प्राप्त होगी तो संबंधित के खिलाफ आवश्यक सेवा बाधित करने के आरोप में धारा-188 में कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया जाएगा।

          डीएम ने कहा कि लॉकडाउन की स्थिति में समाचार पत्र ही ऐसा सशक्त माध्यम है जिससे जनता से जुड़ी हुई जानकारियां, निर्देश, लागू की गई व्यवस्था की जानकारी जनता तक सीधे पहुचती है और जनता का फीड बैक लेना आदि कार्य असंभव नहीं होते। डीएम ने मंगलवार को इस सम्बंध में जिले के सभी अधीनस्थ अधिकारियों को पत्र भेजकर निर्देश जारी कर दिया।

         डीएम ने बताया कि समाचार पत्र ही ऐसा माध्यम है जिससे कोरोना संक्रमण की आधिकारिक जानकारी जनता को दी जा सकती है। डीएम ने बताया कि समाचार पत्र वितरण से जुड़े सभी स्थानों को सेनेटाइज किया जाता है। वहां स्प्रे किया जाता है। 

         इसलिए कोई भी न्यूज़ पेपर हॉकर्स का बहिष्कार नहीं करेगा। केवल पुराने न्यूज़ पेपर, मैगज़ीन, किताबों की रद्दी में सीलन, गर्दा और फफूंदी तथा वायरस होता है उसे अपने घर से बाहर निकालें। सभी लोग नया अखबार बेफिक्र होकर पढ़ें। मैं मीडिया के माध्यम से यह भी कहना चाहूँगा कि हो सके तो 21 दिन तक लोग घरों से न निकलें जब कोई आवश्यकता हो तभी बाहर जाएं।

Your Commment

Email (will not be published)

Translate »